Top10 Herbs Plants To Grow at Home | ऐसे हर्ब्स प्लांट्स जिसे आप गार्डन में लगा सकते है

Top10 Herbs Plants To Grow at Home

Recently updated on December 16th, 2023 at 04:05 pm

Top10 Herbs Plants To Grow at Home  In Hindi आज के इस आर्टिकल में हम आपको  ऐसे हर्ब्स प्लांट्स के बारे में बतायेगे जिसे आप अपने गार्डन और किचन गार्डन में आसानी से लगा पायेगे चलिए जानते है Top10 Herbs Plants To Grow at Home | इस आर्टिकल में हम Top10 Herbs Plants To Grow at Home में ऐसे प्लांट्स को रखा है जिसे उगाना या देखरेख करना  काफी आसान है | चलिए जानते है इस आर्टिकल में हर्ब्स प्लांट्स के बारे में

Table of Contents

हर्ब्स क्या है ? (What  is Herbs in Hindi )

हर्ब्स जिन्हे हिंदी में जड़ी बूटी के नाम से भी जाना जाता है | जड़ी बूटी ऐसी वनस्पतियों को कहा जाता है ,जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक एवं चिकित्सा के लिए उपयोग में लाये जाते हो इनके औषधीय गुणों के कारण ही इसे हर्ब्स यानि जड़ी बूटी कहा जाता है |

यह सुगन्धित और औषधीय गुणों वाले पौधे होते है|  जड़ी बूटी भारत की परम्परागत चिकित्सा पद्धति है ग्रंथो में भी हर्ब्स के बारे में वर्णन किया गया है जड़ी बूटी आमतौर पर पौधे के पत्तेदार हरे एवं फूल वाले हिस्से को प्रदर्शित करती है |

आमतौर पर हर्ब्स सुगन्धित गुणों वाले पौधे होते है जिनका उपयोग बहुत से चीजों में किया जाता है जड़ी बूटियाँ पौधों का व्यापक रूप से वितरित समूह है हर्ब्स को भोजन में सुगंध लाने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है कुछ हर्ब्स का उपयोग चाय बनाने में किया जाता है तुलसी, अजवाइन, पुदीना ये सभी जड़ी बूटी में शामिल है |

आमतौर पर यह भी कहा जा सकता है की वनस्पति से प्राप्त होने वाले फल, फूल, पत्ते, शाखा, छाल, रस, बीज, जड़ तथा अन्य भाग जिसका आयुर्वेदिक रूप में यूज किया जाता है तथा जिनका औषधीय रूप में महत्व होता है जड़ी बूटी या हर्ब्स कहलाते है |आयुर्वेद में जड़ी बूटियों का महत्वपूर्ण स्थान है |

जड़ी बूटियां पौधों से प्राप्त की जाती है | पुरे पौधे को जड़ी बूटी के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है, या उसके किसी एक हिस्से जैसे फल, फूल, बीज, पत्ते, जड़ या शाखा का भी इस्तेमाल किया जा सकता है | जड़ी बूटियां अलग-अलग प्रकार की पायी जाती है |

जिनमे से कुछ को ताजा और कुछ को सुखाकर यूज किया जाता है तथा कुछ प्रकार की जड़ी बूटी को दोनों रूप में उपयोग में लाया जा सकता है | इन्ही चीजों के कारण जड़ी बूटी दवाइयों के रूप में भी मिलती है टेबलेट, कैप्सूल और सिरप के रूप में यह मिल जाती है |

खाने में इस्तेमाल की जाने वाली जड़ी बूटी (Herbs Used In Food in hindi ) 

खाने में जिन जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया जाता है वह पाक जड़ी बूटी (Culinary Herbs) कहलाते है |  जो पाउडर, पेस्ट तथा तेल के रूप में पाए जाते है | जिनका उपयोग खाना बनाने के समय या खाना बनाने के बाद ऊपर में छिड़काव के रूप में किया जाता है |

खाने में प्रयोग की जाने वाली जड़ी बूटी सुगन्धित होती है| जिसका उपयोग भोजन में स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है | भोजन में डाले जाने वाली सभी जड़ी बूटियों को खाया नहीं जाता केवल स्वाद के लिए इन्हे खाने में डाला जाता है जैसे की तेज पत्ता और लौंग |

हर्ब्स के फायदे (Herbs Benefit in hindi )

जड़ी बूटियों का सेवन करना स्वास्थय के लिए बहुत फायदेमंद है हर्ब्स मे एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते है जड़ी-बूटियों हमे संक्रमण से लड़ने में भी काफी मदद करते है वह कुछ जड़ी-बूटियां खाना हजम करने, स्नायु को शांत करने, कब्ज दूर करने, ब्लड प्रेसर को कंट्रोल करने कुछ लाइफ स्टाइल बीमारियों को कंट्रोल करने में काफी मददगार होती है | जड़ी-बूटियों में पोषक तत्त्व और औषधीय गुण, दोनों होते हैं। विभिन्‍न प्रकार की जड़ी-बूटियां जैसे तुलसी, अदरक, हल्‍दी, लेमन ग्रास’ आदि के साथ विभिन्‍न प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं और रोजमर्रा में आने वाली समस्‍याओं जैसे सर्दी, खांसी और लाइफ स्टाइल सम्बंधी रोगो को दूर करने में मददगार होती है |

हर्ब्‍स से जुड़ी जानकारी के बारे में यहां विस्‍तार से जान पाएंगे | हर्ब्स के कई फायदे है इसके बारे में एक ही आर्टिकल में बता पाना काफी मुश्किल है बस इतना जानिए आज के आधुनिक युग में हम एलोपेथी मेडिसिन पे निर्भर है पर कुछ ऐसे ट्राइब है दुनिया में जो लोक औषधियों पे जिन्दा है | हर्ब्स के फायदे गिनाना संभव सा नहीं लगता पर हम कुछ ऐसे पौधे के बारे में बताएँगे जिसे आप आसानी से अपने कीचन गार्डन में लगा पाएंगे चलिए जानते है | Top10 Herbs Plants To Grow at Home आसानी से लगा सकते है |

घरो में हर्ब्स कैसे लगाए ( How To Grow Herbs At Home In hindi )

घरो में जड़ी बूटियों को आप आसानी से लगा सकते है | तथा हर रोज ताज़ी जड़ी बूटी प्राप्त कर सकते है |  अगर आप होम गार्डनिंग के शौकीन है तो आपको अपने गार्डन में जड़ी बूटी को जरूर लगाना चाहिए आप इसे अपनी बालकनी में , टेरेस में लगा सकतेहै |

इसे छोटे से गमलो में या ग्रो बैग में लगा सकते है | घरो में जड़ी बूटी लगाने के लिए 7 से 10 इंच का गमला तथा ऐसे गमले का चुनाव करे जिनमें होल हो | साथ ही साथ इसको ग्रो करने में कुछ बातो का ख्याल रखे जिससे हम इन पौधे की देखभाल कैसे करे सेक्शन में लिखा है | सबसे जरुरी बात हमेशा पौधे में  पानी तभी डाले जब जरुरी हो ज्यादा पानी डालकर पौधे को ख़राब न करे |

चाहिए जानते है Top10 Herbs Plants To Grow at Home  ऐसे हर्ब्स जिन्हे आप अपने घरो में लगा सकते है 

अक्सर हम यह देखते है की होम गार्डनिंग में हम सब्जिया ग्रो करते है कुछ पौधों को सजावटों के लिए लगाते है पर आज हम बात करने जा रहे है हर्ब्स के बारे में जिनमे से कुछ हर्ब्स को सलाद के रूप में यूज करते है और कुछ को सर्दी खासी में काढ़ा के रूप में उपयोग में लाते है कुछ जड़ी बूटियों को मेडिसिनल पर्पस से उपयोग में लाते है खाने में जिन जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया जाता है उसे आमतौर पर हम पाक जड़ी बूटी या क्युलिनरी हर्ब्स के नाम से जानते है आज के इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे हर्ब्स के बारे में बताएँगे जिन्हे आप ठण्ड के मौसम में आसानी से अपने होम गार्डन में लगाकर उनकी ग्रोथ कर सकते है |

1 तुलसी (Basil)

तुलसी के पौधे से हर कोई वाकिफ है यह आमतौर पर सभी घरो में पाया ही जाता है इनमे बहुत से औषधीय गुण पाए जाते है इसे काफी आसानी से घरो में ग्रो किया जा सकता है इसे ज्यादा केयर की भी आवश्यकता नहीं होती इनके पत्तो में बहुत से मेडिसिनल गुण पाए जाते है इनका सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है इसे गमले में आसानी से लगाया जा सकता है साथ ही इसके लिए कोई विशेष प्रकार की मिट्टी की भी आवश्यकता नहीं होती है इसे साधारण मिट्टी में भी लगाया जा सकता है |

 

2 पुदीना (Mint)

पुदीना यानि की मिंट यह एक ऐसा औषधीय गुणों वाला पौधा है जिसे घरो में आसानी से ग्रो किया जा सकता है इसके बीजो से इसे गमले में लगाया जा सकता है इनके लिए ज्यादा पानी की भी आवश्यकता नहीं होती है तथा इसे ठंड में कम से कम 6 घंटे की धुप अवश्य दे साथ ही इनके बीज 7 से 14 दिन के मध्य में अंकुरित हो जाते है और आप 50 से 60 दिनों में अपने गमले से पुदीना के पत्ते तोड़ सकते है |

3 धनिया (Coriander)

धनिया एक ऐसा हर्ब है जो सब्जियों की शोभा बढ़ा देता है अगर आप इसे अपने गार्डनिंग में शामिल करते है तो आप फ्रेश धनिया का यूज कर सकते है इसे लगाना भी काफी आसान है इसके बीज को आप गमले में या ग्रो बैग में डालकर लगा सकते है इसे पर्याप्त मात्रा में पानी और सूर्य की रोशनी दे जब इसके पत्ते 4 से 6 इंच के हो जाये तो आप इसे तोड़ सकते है |

4 लैवेंडर (Lavender)

आप लैवेंडर के पौधे को भी सर्दियों के मौसम में लगा सकते है अगर आप इसे फुल सनलाइट में रखे तथा वेल ड्रेन गमले का चुनाव करे साथ ही इसमें ज्यादा पानी न डाले जब इनकी मिट्टी सुखी दिखाई दे या सुख रही हो तभी पानी दे इनके बीज लगभग 14 से15 दिन में अंकुरित हो जाते है और अगर हार्वेस्टिंग की बात की जाये तो 3 से 4 महीने का समय लगता है |

5.ओरिगानो (Oregano)

ओरिगानो यानि अजवाइन की पत्ती जिसे फास्ट फ़ूड में बहुत ज्यादा उपयोग में लाया जाता है इसे आप आसानी से ग्रो कर सकते है इसे गमले में तथा ग्रो बैग में लगा सकते है इसके लिए वेल ड्रेन गमले का यूज करे और गमले की साइल में जैविक खाद जैसे वर्मी कम्पोस्ट, गोबर खाद, बोन मील भी डाल सकते है जिससे की पौधे की ग्रोथ अच्छे से होगी | तथा इसे नियमित रूप में पानी और 6 से 8 घंटे की धुप दे जिससे इनके पौधे मुरझाएंगे नहीं और कभी-कभी इनके पेड़ो में पेट्स का भी अटैक हो जाता है इनसे बचने के लिए नीम आयल का भी स्प्रे करे |

6.लेमन ग्रास (Lemon Grass)

लेमन ग्रास एक ऐसा पौधा है जिनमें बहुत से औषधीय गुण पाए जाते है जो पाचन सम्बन्धी समस्या में इस्तेमाल किया जाता है इसे आसानी से गमलो में लगाया जा सकता है अगर आप इसके पौधे लगा रहे है तो इसे ऐसे जगह में रखे जहाँ पर्याप्त मात्रा में या 5 से 6 घंटे की धुप आती हो जिससे इनकी ग्रोथ अच्छे से होगी इनके बीज 7 से 10 दिन में अंकुरित हो जाते है |

7.अश्वगंधा (Ashwagandha)

अश्वगंधा के पौधे को सितम्बर से अक्टूबर माह के मध्य लगाया जाता है इसे आप बीज के माध्यम से  ग्रो बैग तथा गमले दोनों में लगा सकते  है तथा इसे 5 से 6 घंटे की धुप में रखे तथा पेट्स से बचने के लिए नीम आयल का स्प्रे करे इसकी ग्रोथ के लिए जैविक खाद का उपयोग करे इनके बीज को अंकुरित होने में 6 से 14 दिन का समय लगता है इनके पौधे 5 से 6 महीने में हार्वेस्टिंग के लिए तैयार हो जाते है साथ ही साथ अश्वगंधा के पौधे को घर में लगाने से वास्तु दोष भी दूर होता है |

8.थाईम (Thyme)

थाइम एक हर्बल प्लांट है जिसे आप इंडोर व आउटडोर दोनों ही जगह में लगा सकते है यह 18 से 30 डिग्री सेल्सियस में तथा फुल सनलाइट में रहना पसंद करते है साथ ही इनके पौधे में ज्यादा पानी की आवश्यकता भी नहीं होती है इनके बीज 14 से 28 दिन में अंकुरित होते है और हार्वेस्टिंग में 2 महीने का समय लग जाता है |

9.रोजमेरी (Rosemary Plants )

सर्दियों के मौसम में आप अपने होम गार्डन में रोजमेरी जरूर लगाए इसे बीजो के द्वारा लगा सकते है आप अपने नजदीकी नर्सरी से या ऑनलाइन इसके बीज परचेस कर सकते है इसके पौधे को फुल सनलाइट में रखे जिससे इनकी ग्रोथ अच्छे से होगी इनके बीज 14 से 15 दिन के अंदर अंकुरित हो जायेंगे और हार्वेस्टिंग में 3 से 4 महीने का समय लग सकता है |

 

10.अजमोद (Parsley)

अजमोद का सवाद हल्का कड़वा होता है इसका ज्यादा उपयोग आप  खाद्य पदार्थों में देखे होंगे ये उनके स्वाद को बढ़ा सकता है। इसका उपयोग सलाद को गार्निश करने में भी क्या जाता हैं। लेकिन ये शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है। ये पाचनतंत्र को बढ़ावा देता है। इसे विटामिन ए और सी का अच्छा स्रोत माना जाता है जो हमारे स्वास्थ के लिए काफी अच्छा होता है |

गमले में हर्ब्स कैसे लगाते है  (How to plant herbs in pot)

घरो के गार्डन में हर्ब्स यानि जड़ी बूटी को लगाना तथा उनकी ग्रोथ करना काफी आसान है | गमले में हर्ब्स को लगाने के लिए एक अच्छी जल निकासी वाली गमला जिनमे होल हो तथा 7-10 इंच का गमला ले उसके बाद आप उनके लिए मिट्टी तैयार कर ले, मिट्टी में जैविक खाद भी मिलाये इससे जड़ी बूटी तेजी से बढ़ते है | गमले में मिट्टी डालने के बाद आप इसमें पानी डाल दे तथा उनको एक दिन के लिए रख दे | फिर एक दिन के बाद आप उस गमले की मिट्टी के बीच में थोड़ा सा गड्ढ़ा कर ले और बीज को डालकर ऊपर मिट्टी से ढक दे | इसे लगाने के बाद इसकी मिट्टी को तब तक नम रखे जब तक इनके बीज अंकुरित न हो जाये |

 

वार्षिक, द्विवार्षिक तथा बारहमासी जड़ी बुटिया हर्ब्स (Herbs Grow Type Annual, Biennial and Perennial )

जितने भी प्रकार के पौधे पाए जाते है उन्हें मुख्यतः तीन श्रेणियों में बांटा गया है हर्ब्स को भी इन श्रेणियों में शामिल किया गया है इस लेख में हम जानेंगे की वार्षिक, द्विवार्षिक तथा बारहमासी जड़ी बूटी क्या होते है और उनके अंतर्गत कौन-कौन से जड़ी बूटी शामिल है |

वार्षिक जड़ी बूटी (Annual Herbs) :- वार्षिक जड़ी बूटी ऐसे हर्ब्स होते है जो एक वर्ष में अपना लाइफ साइकल कम्पलीट करते है जिनमे वे एक वर्ष में ही अंकुरित होते है खिलते है बीज देते है तथा मर जाते है | वार्षिक जड़ी बूटी में शामिल है तुलसी,लेमनग्रास, स्टीविया, सौंफ, कैलेण्डुला इत्यादि |

द्विवार्षिक जड़ी बूटी (Biennial Herb) :- द्विवार्षिक जड़ी बूटी ऐसे जड़ी बूटी होते है जो दो वर्षो में अपना लाइफ साइकल कम्पलीट करते है जिनमे वे पहलेवर्ष  में जड़, तनो तथा पत्तियों का विकास करती है तथा दूसरे वर्ष में फूल, फल और बीज उगते है | द्विवार्षिक जड़ी बूटी वाले पौधे में पार्स्ली, चाइव्स आते है |

बारहमासी जड़ी बूटी (Perennial Herb):- बारहमासी जड़ी बूटी ऐसे जड़ी बूटी होते है जो कई वर्षो तक जीवित रहते है ये पौधे अपने ग्रोइंग सीजन में हरे भरे रहते है इनमें पुदीना, लैवेंडर,अजवायन, थाइम, रोज़मेरी तथा इलायची आते है |

जड़ी बूटियों की देखभाल कैसे करे 

घरो में गमले में उगाई जाने वाली जड़ी बूटियों के अच्छे से ग्रोथ के लिए उनकी अच्छे से देखभाल करने की आवश्यकता होती है | उनकी अच्छे से ग्रोथ के लिए कुछ बातो का ध्यान दे |

  • हर पौधे को ग्रोथ के लिए सूरज की रोशनी काफी महत्वपूर्ण होती है, जड़ी बूटियों के Proper विकास के लिए आप उन्हें पर्याप्त मात्रा में सूर्य की रोशनी दे कम से कम उन्हें 4-6 घंटे की धुप में रखे |
  • विभिन्न प्रकार के जड़ी बूटियों को विकास के अलग-अलग मात्रा में पानी की आवश्यकता पड़ती है | जड़ी बूटी या किसी भी पौधे के विकास के लिए मिट्टी में हमेशा नमी बनाकर रखे पर मिट्टी को ज्यादा गीली (Soggy) न करे इससे पौधे की जड़े ख़राब हो जाती है | मिट्टी नम है या नहीं इसकी जाँच करने के लिए आप गमले की मिट्टी में अपनी उंगली को 1 इंच अंदर डाले और बाहर निकाले अगर मिट्टी उंगली में चिपक जाये तो वह नम है लेकिन उंगली में मिट्टी चिपकती नहीं है तो मिट्टी सुख गई है आपको अपने पौधे को पानी देने की आवश्यकता है | जड़ी बूटी के अच्छे से विकास के लिए आप उन्हें कम से कम सप्ताह में दो बार पानी अवश्य दे |
  • पौधों के अच्छे विकास के लिए खाद (Fertilizer) भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है जड़ी बूटियों को समय-समय पर उर्वरक की आवश्यकता होती है गमले में जो जड़ी बुटिया उगाई जाती है उन्हें 3-4 हफ्तों में जैविक उर्वरक की आवश्यकता होती है, इसके अलावा आप जड़ी बूटी के लिए मिट्टी तैयार करते समय उसमे गोबर खाद, नीम केक, सरसो खली को भी मिला सकते है |
  • वार्षिक जड़ी बूटियों को छटाई की जरुरत नहीं होती है लेकिन बारहमासी जड़ी बूटी के ग्रोथ के लिए उनके आकार को नियंत्रित करने तथा ताजा पत्तो के ग्रोथ के लिए उनकी छटाई अवश्य करे | इसके लिए आप प्रुनर का इस्तेमाल करे इसके इस्तेमाल से पौधे के नए ग्रोथ में काफी मदद मिलती है |
  • कीटो और रोगो से बचाव के लिए आप नीम आयल का भी स्प्रे सकते है साथ ही पर्याप्त मात्रा में पौधों में हवा का प्रवाह आने दे गमले को एक दूसरे से दुरी बनाकर रखे जिससे उन्हें ग्रोथ के लिए पर्याप्त जगह मिलेगी |
  • जड़ी बूटी को उगने के बाद जब वह ग्रोथ के परिपक्व्ता के चरण में होते है तो नए पत्तो और शाखाओ के विकास के लिए उनकी कटाई की जाना भी बहुत आवश्यक है जिससे नए पत्तियों के विकास में मदद मिलती है इसका सबसे अच्छा तरीका है लीफ नोड के ऊपर से कटाई करना है जिससे की  पौधों का पूर्ण रूप से विकास होता है |
  • जब जड़ी बूटी में फूल खिलना स्टार्ट हो जाते है तो जड़ी बूटी के जो खाने वाले पौधे होते है वे छोटे और कड़वे हो जाते है | यदि आप जड़ी बूटियों के पौधे को लम्बे समय तक रखकर उपयोग करना चाहते है तो जैसे ही उनमे फूल आने शुरू हो जाते है तो उन्हें आप हाथो से या कैंची की सहायता से काट ले इससे आपके पौधे लम्बे समय तक रहेंगे |

Top10 Herbs Plants To Grow at Home इस आर्टिकल  में मैंने कोशिश किया है ज्यादा टॉपिक को बता सकु अगर इसके बाद भी कोई समस्या लग रही है तो इस वीडियो को देखे 10 हर्ब्स जिसे आसानी से घर पे लगा सकते है -Hindi| Herbs Grow in Winter | कौन से हर्ब्स घर में लगाए |   इसके बाद भी कोई दिक्कत है कमेंट बॉक्स में लिखे