Areca Palm | How to Grow And Maintain Areca Palm

Areca Palm

Recently updated on December 16th, 2023 at 04:11 pm

एरेका पाम (areca palm) सबसे ज्यादा लगाए जाने वाला एक कॉमन इंडोर प्लांट है कई ऐरेका पाम छोटे तथा कुछ बड़े होते है एरेका पाम को इंडोर व आउटडोर दोनों प्रकार के पौधे में शामिल है मुख्यतः यह ऑर्नामेंटल प्लांट की श्रेणी में आते है एरेका पाम को बहुत से नामो से जाना जाता है इसे गोल्डन कैन पाम, येलो पाम, गोल्डन फीदर पाम, बम्बू पाम और बटरफ्लाई पाम के नाम से जाना जाता है

आज के समय में एरेका पाम (areca palm) को हाउसहोल्ड प्लांट के रूप में लगाया जाता है तथा दुनिया भर में एरेका पाम की 50 से ज्यादा प्रजाति पाई जाती है | साथ ही एरेका पाम का पौधा एयर से बेंजीन फार्मेल्डिहाइड और ट्राईक्लोरोइथिलीन को हटाने में बहुत प्रभावी है तथा एयर को प्यूरीफाई करने के साथ साथ काफी मात्रा में ऑक्सीजन प्रोडूस करता है एरेका पाम के पत्ते सीधे व हरे रंग के होते है | एरेका पाम को Dypsis Lutescens के नाम से भी जाना जाता है तथा इसका साइंटिफिक नाम Chrysalidocarpus Lutescens है | एरेका पाम madagascar के मूल निवासी है | एरेका पाम को मुख्यतः इंडोर में  बड़े बड़े माल्स अपार्टमेंट में ज्यादा लगाया जाते है | एरेका पाम कही भी 6 से 12 फ़ीट तक ग्रो कर सकते है  और अगर इसे बाहर लगाया जाये तो 20 फ़ीट  तक ग्रो कर सकते है |

areca palm को घरो में क्यों रखना चाहिए

एरेका पाम इंडोर फ्रेंडली है यह घरो में काफी अच्छे से खिलने के साथ ही घर के वातावरण को शुध्द भी करती है तथा काफी मात्रा में ऑक्सीजन भी प्रोडूस करती है | साथ ही साथ टॉक्सिन्स को भी रिमूव करते है |

एरेका पाम (areca palm) को घरो में किस प्रकार और कौन से स्थान में रखना चाहिए

एरेका को इनडोर प्लांट के रूप में ज्यादा लगाया जाता है क्युकी इसके बहुत से फायदे है पर घरो में लगते समय कुछ बातो का ध्यान रखे की इसके पौधे को डायरेक्ट सनलाइट में न रखे  इसे बालकनी या विंडो के पास ऐसी जगह में रखे जहा इनडायरेक्ट रूप से सूरज की रोशनी आती हो

क्या एरेका पाम (areca palm) इंडोर में ग्रो होते है ?

एरेका पाम को इंडोर में आसानी से ग्रो करते है पर इसके लिए इन्हे कन्सिस्टेंटली वार्म वातावरण की जरुरत होती है तथा उच्च आद्रता (High Humidity) के साथ राइट डायरेक्शन में सन लाइट की जरुरत होती है |

एरेका पाम (areca palm) को ग्रो कैसे करे

एरेका पाम के ग्रोथ की बात की जाये तो यह धीमे से मध्यम दर में इंडोर तथा आउटडोर में ग्रोथ करते हैयह इंडोर में 8 फ़ीट तक तथा आउटडोर में 30 फ़ीट तक ग्रो करते है एरेका पाम को वार्म स्पॉट तथा इनडायरेक्ट  सनलाइट  में रहना ज्यादा पसंद है इसे सही से ग्रो करने का सीक्रेट इसके प्लांट को राइट वाटरिंग करना है इनके प्लांट के लिए साइल मॉइस्ट होने चाहिए ज्यादा सॉगी नहीं होने चाहिए एरेका पाम को आद्रता (Humidity ) भी बहुत पसंद है इसे डायरेक्ट सनलाइट में न रखे |

अगर आपके एरेका पाम की ग्रोथ अच्छे से नहीं हो रही तथा नीचे बताये गए  सिम्पटम्स आपके एरेका पाम में है तो नीचे जो पॉइंट बताये गए है उसे पढ़कर आप अपने एरेका पाम को अच्छे से ग्रो कर सकते हो |

  • एरेका पाम में ब्राउन लीफ यानि भूरे पत्ते का आना बहुत कॉमन है इसके बहुत से रीज़न होते है जैसे की एयर बहुत ठन्डे और बहुत ड्राई होते है या जो प्लांट है वो अंडरवाटर हो तो ऐरेका पाम के ग्रोथ के लिए ब्राउन लीफ को काट दे जिससे नए पत्ते ग्रोथ करेंगे
  • एरेका पाम जैसे जैसे पुराने होते है उनकी निचली पत्तिया पीली पड़ जाती है यह इसलिए भी होता है की इसे डायरेक्ट सनलाइट में रखा गया हो इसलिए इसकी ओवरऑल ग्रोथ के लिए डायरेक्ट सनलाइट से बचे
  • एरेका पाम में अगर आपको गिरती हुयी फटी  या मुड़ी हुई पत्तिया दिखाई देती है तो उसे ज्यादा पानी की आवश्यकता होती है |
  • एरेका पाम के बेस में अगर भूरे पत्ते दिखाई देते है तो यह सामान्य बात है बस आप इसकी कटाई कर दे यह ओवरवाटरिंग के बारे में बताते है एरेका पाम की पत्तिया ज्यादा सॉगी मिटटी तथा ज्यादा कोल्ड क्लाइमेट पसंद नहीं है |
  • एरेका पाम में ब्राउन पैचेज सनबर्न के कारण दिखाई देते है अगर आपके ऐरेका पाम में ब्राउन पैचेस दिखाई दे तो तुरंत ही इसे सनलाइट से हटा दे |
  • अगर एरेका पाम के पत्ते Dull दिखाई देते है और अपने शाइन को खो देते है तो इसका मतलब है की वातावरण (Atmosphere) प्रॉपर मात्रा में नमी नहीं है और बहुत ज्यादा मात्रा में उसे लाइट मिल रही है तो आप इसे छायादार स्थान में लगाए |

एरेका पाम (areca palm) के फायदे

एरेका पाम का अक्सर हॉस्पिटलों में भी देखा जाता है इसका हेल्थ पर बहुत असर होता है इससे मरीज जल्दी रिकवर होते है क्युकी ये एयर को प्युरफाइ करने के साथ काफी मात्रा में ऑक्सीज़न भी प्रोडूस करता है |  जिससे की अच्छी मात्रा में हम ऑक्सीज़न को इन्हेल करते है |यह एयर को प्यूरीफाई करने के साथ साथ जहरीली गैसों को अवशोषित करता है जैसे की कार्बन मोनो ऑक्साइड, फार्मेल्डिहाइट , जाइलीन, टोलुईन, नाइट्रोजन डाई ऑक्साइड, ओज़ोन इत्यादि |  तथा यह एक नेचुरल एयर प्यूरीफायर है |एरेका पाम स्ट्रेस को भी दूर रखता है | यह घरो में humidifier की तरह कार्य करते है |

वास्तु शास्त्र के अनुसार एरेका पाम का महत्त्व
वास्तु शास्त्र में बहुत से प्लांट का अपना महत्त्व है जिनमे से एक एरेका प्लांट भी है  वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में पॉजिटिव एनर्जी लाने के लिए इसे घर के पूर्व, दक्षिण पूर्व, दक्षिण तथा उत्तर में रखा जा सकता है तथा यह भी माना जाता है की यह घर में धन, सुख और समृद्धि लाती है |

एरेका पाम (areca palm) की देखभाल कैसे करे

एरेका पाम में तब ही पानी डाले जब खाद पूरी ड्राई दिखाई दे या पूरी तरह से सुख रही हो तथा इसमें वर्षा जल आशुत जल तथा प्यूरीफाइड वाटर का यूज करे विषेशकर अगर आप हार्ड वाटर वाले एरिया में रहते हो तो क्युकी एरेका पाम  केमिकल वाले पानी में सेंसिटिव होते है तथा ये भी ध्यान रखे की कम्पोस्ट मॉइस्ट हो पर सॉगी न हो तथा एरेका पाम को आद्रता वाले वातावरण पसंद है इसलिए हफ्ते में कम से कम एक बार इसे गुनगुने पानी से स्प्रे करे  तथा इसके ग्रोविंग सीजन तथा कुछ महीनो में फ़र्टिलाइज़र का भी इस्तेमाल करे | तथा पत्तियों में से धूल को हटाने के लिए समय समय में सफाई करे या फिर आप इसे बारिश के समय में बाहर रख दे | एरेका पाम की देखभाल के लिए कुछ टिप्स को फॉलो करे

  • इन्हे पर्याप्त मात्रा में सूर्य की रोशनी दे पर यह ध्यान रखे की डायरेक्ट सनलाइट में न रखे |
  • आप जिस जगह में रहते है वहाँ के वातावरण (Atmosphere) से भी पौधों को काफी प्रभाव पड़ता है इसलिए अपने वातावरण को ध्यान में रखते हुए एरेका पाम में वाटरिंग करे|
  • इनके प्लांटर को बड़ा रखे जड़ो की प्रॉपर डेवलपमेंट के लिए |
  • टेम्पेरेचर कम से कम 60 से 75 डिग्री फारेनहाइट के बीच रहना चाहिए |

ऐरेका पाम में रेड स्पाइडर माइट, मीली बग तथा स्केल इंसेक्ट्स जैसे कीट प्रभावित करते है इसलिए समय समय पर इंसेक्ट्स कीलर स्प्रे, नीम आयल का छिड़काव करते रहे |

एरेका पाम को इंडोर में आसानी से ग्रो करते है पर इसके लिए इन्हे कन्सिस्टेंटली वार्म वातावरण की जरुरत होती है तथा उच्च आद्रता (High Humidity) के साथ राइट डायरेक्शन में सन लाइट की जरुरत होती है |
एरेका पाम में तब ही पानी डाले जब खाद पूरी ड्राई दिखाई दे या पूरी तरह से सुख रही हो तथा इसमें वर्षा जल आशुत जल तथा प्यूरीफाइड वाटर का यूज करे विषेशकर अगर आप हार्ड वाटर वाले एरिया में रहते हो तो क्युकी एरेका पाम  केमिकल वाले पानी में सेंसिटिव होते है तथा ये भी ध्यान रखे की कम्पोस्ट मॉइस्ट हो पर सॉगी न हो तथा एरेका पाम को आद्रता वाले वातावरण पसंद है इसलिए हफ्ते में कम से कम एक बार इसे गुनगुने पानी से स्प्रे करे  तथा इसके ग्रोविंग सीजन तथा कुछ महीनो में फ़र्टिलाइज़र का भी इस्तेमाल करे | तथा पत्तियों में से धूल को हटाने के लिए समय समय में सफाई करे या फिर आप इसे बारिश के समय में बाहर रख दे